Yoga classes & top ten Yogic words

योग के लाभ

21 जून को दुनियाभर में योग दिवस 2020 मनाया जाएगा। हालांकि कोरोना वायरस की वजह से कहीं भी सामूहिक आयोजन नहीं किया जाएगा। इस साल सभी लोग अपने घरों पर ही योगा करके योग दिवस मनाएंगे।

मात्र 10 मिनट योगा करने से शरीर स्वस्थ रहता है और जीवनशैली से जुड़ी बीमारियां जैसे- हाई ब्लड प्रेशर, डायबिटीज, हार्ट अटैक आदि के खतरे को कम किया जा सकता है। इसके अलावा योगासन से शरीर लंबे समय तक बूढ़ा नहीं होता है। आइए आपको बताते हैं योगासन करने के 10 जबरदस्त फायदे।

दर्द से छुटकारा
योग हर प्रकार के दर्द को दूर करने में मदद करता है। योग की श्वास और स्ट्रेचिंग तकनीक के जरिये आप शरीर में कई प्रकार के विषैले पदार्थों का सही संतुलन बनाने का काम करता है। इसमें रक्त भी शामिल है, जो आमतौर पर शरीर में जरूरी पोषक तत्व पहुंचाने और टॉक्सिन को हटाने का काम करता है। एक बार शरीर का सर्कुलर सिस्टम में सुधार आ जाए, तो शरीर दर्द का बेहतर तरीके से सामना कर पाता है।

हड्डियों की बीमारियों से मुक्ति
जोड़ों, हड्डियों या मांसपेशियों की बीमारियों से जूझ रहे लोगों के लिए योग बहुत मददगार साबित हो सकता है। योग हमारे मांसपेशीय ढांचें को मजबूती प्रदान करता है। इससे हमारे शरीर में अत्यधिक लचीलापन आता है। इससे हमारा शरीर अत्यधिक मजबूती से काम करता है।

कार्डियो सेहत को सुधारने में मददगार
Cardiovascular बीमारियां आजकल आम हो गयी हैं। 30 की उम्र में ही ये बीमारियां लोगों को घेरने लगीं हैं। हमारी जीवनशैली की वजह से बीमारियां और स्ट्रोक होने का खतरा काफी बढ़ गया है। योग ऐसा व्यायाम है, जो कार्डियो सेहत को सुधारने में चमत्कारिक असर दिखाता है। श्वास प्रक्रिया को नियंत्रित कर योग हमारी धड़कनों को नियंत्रित करने में मदद करता है। योग से हमारे रक्त मे अधिक मात्रा में ऑक्सीजन पहुंचती है, इससे दिल भी स्वस्थ रहता है।

मन शांत करता है योग
यदि आपका मन शांत है, तो आप चीजों पर बेहतर ढंग से एकाग्र कर पाएंगे। योग और ध्यान से आपका प्रतिक्रियात्मक समय कम होता है।

कार्यक्षमता में इजाफा 
योग आपको चीजों पर बेहतर और लंबे समय तक ध्यान केंद्रित करने में मदद करता है। । इससे आपकी कार्यक्षमता में भी इजाफा होता है। और आप अपनी रोजमर्रा की कार्य-योजना को बेहतर तरीके से क्रियान्वित कर पाते हैं।

वजन नियंत्रित रखने में भी मदद
योग आपका वजन नियंत्रित रखने में भी मदद करता है। शरीर में पौष्टिक तत्वों का सही अनुपात में विस्तार होता है। इससे हमारा मेटाबॉलिक रेट सुधरता है। इससे आप ज्यादा कैलोरी खर्च करते हैं। इससे आपका वजन कम होता है। त्वचा भी चमकदार होती है।

ब्लड सक्र्युलेशन बेहतर
योगासनों और श्वास-तकनीकों के जरिए आप शरीर में रक्त के संचार (ब्लड सक्र्युलेशन) को बेहतर बना सकते हैं। ब्लड सक्र्युलेशन बढिय़ा हो तो आपके शरीर के अंगों तक ऑक्सीजऩ पहुंचने में दिक्कत नहीं होती है।

तनाव कम करने में मदद
अगर आप योगाभ्यास करेंगे तो महसूस करेंगे जैसे सारा तनाव धीरे-धीरे खत्म हो गया। हालांकि, इसका यह अर्थ नहीं कि अकेले योग ही तनाव दूर करने का जरिया है। कोई भी एक्सर्साईज अगर मन लगाकर की जाए और श्वास क्रियाओं को सही ढंग से दोहराया जाए तो तनाव से राहत अवश्य मिलेगी।

इम्यूनिटी बूस्ट 
योगा इम्यूनिटी में सुधार करने में मदद करता है। यह आपके इम्यून सिस्टम को बूस्ट करता है जो आपके फेफड़े, हद्य और पाचन तंत्र को स्वस्थ रखता है। यह आपको स्वस्थ खाने में भी मदद करता है।

गर्भावस्था में मददगार है योग
गर्भावस्था में योग बहुत फायदेमंद होता है। यह आपको फिट रखने में मदद करता है। योग थकान और तनाव को दूर करने में मदद करता है। इससे मांसपेशियों को भी शक्ति मिलती है। योग से प्रेग्नेंसी के दौरान आने वाली समस्याएं जैसे अनिद्रा, बैक पेन, पैरों में दर्द की समस्या में भी राहत मिलती है।

पाचन क्रिया में सहायक
योग करने से पाचन क्रिया संतुलित रहती है। इसके साथ ही यह नर्वस सिस्टम को भी सही रखता है।